Stories

कहानी - मकान | कथाकार - कामतानाथ

चाभी ताले में फँसा कर उसने उसे घुमाया तो उसने घूमने से कतई इनकार कर दिया। उसने दुबारा जोर लगाया परंतु कोई परिणाम नहीं निकला।…

कहानी - बचपन | लेखक - उषा महाजन

वे भूली कहाँ थीं कुछ भी! रह-रहकर वही दृश्य तो उनके मन को कुरेदते रहते हैं और वे अपने-आप से ही आँखें चुराने की कोशिश में लग…

कहानी — चश्मदीद | लेखक - एस आर हरनोट

कोर्ट नंबर एक। बाहर-भीतर और दिनों की अपेक्षा ज़्यादा भीड़। खूब चहल-पहल। आगे की चार-पाँच पंक्तियों की कुर्सियाँ काले कोटधार…

Load More
That is All